Ved Va Vigyan (Veda and Science) / वेद व विज्ञान
Author
: Swami Pratyagatmananda Saraswati
Language
: Hindi
Book Type
: Reference Book
Publication Year
: 2012
ISBN
: 9788171248643
Binding Type
: Hard Bound
Bibliography
: xxiv + 268 Pages, Append., Size : Demy i.e. 22.5 x 14 Cm.

MRP ₹ 200

Discount 20%

Offer Price ₹ 160

भारतीय संस्कृति और साधना का मूल है वेद। उस वेद में ऋषि का प्रज्ञान प्रतिफलित है। जगत् का आदिमतम यह ग्रन्थ भाव और भाषा में आज भी दुरवगाह बना हुआ है। प्रज्ञान अथवा बोधि के इस प्रकाश को बुद्धि के द्वारा पकडऩे जाकर किसी ने समझा कि वह कृषकों का गीत है, अर्थात् अशिक्षित आदिम मानव का असम्बद्ध प्रलाप है, और किसी ने सोचा कि प्रकृति के नाना ताण्डव से भीत, सन्त्रस्त, असहाय मानव का आर्तनाद है, या एक अदृश्य शक्ति के सामने मूढ़ मानव के तुष्टि-साधन का आकुल प्रयास और व्याकुल प्रार्थना है। वर्तमान ग्रन्थ स्वामी प्रत्यगात्मानन्द सरस्वती के पूर्वाश्रम में अध्यापन-काल में दिये गये कुछ भाषणों और लेखों का संकलन है। इसमें आपने 'दुव्र्याभ्याविष-मूॢच्छताÓ वेदवाणी को मानो पुनरुज्जीवित करके स्वमहिमा में प्रतिष्ठित कर दिया है।