Adhunik Hindi Sahitya : Vividha Aayam / आधुनिक हिन्दी साहित्य : विविध आयाम
Author
: Ramchandra Tiwari
Language
: Hindi
Book Type
: Reference Book
Category
: Hindi Literary Criticism / History / Essays
Publication Year
: 2007
ISBN
: 9788171245987
Binding Type
: Paper Back
Bibliography
: viii + 244 Pages, Size : 22.5 X 14.5 Cm.

MRP ₹ 300

Discount 20%

Offer Price ₹ 240

प्रस्ïतुत कृति डॉ० रामचन्द्र तिवारी द्वारा समय-समय पर लिखे गये आलोचनात्ïमक निबन्धों का संग्रह है। इसमें कुल ३८ निबन्ध संगृहीत हैं। निबन्ध किसी सन्ïदर्भ-विशेष से जुड़े नहीं है। मोटे तौर पर इसमें 'परम्पराÓ, 'इतिहासÓ, 'पत्रकारिताÓ, 'राष्ïट्रीयताÓ, 'तुलसीदास और निराला के राम की वैशिष्ïटï्य-गत एकताÓ, 'रस सिद्धान्ïत और आधुनिक काव्ïयÓ, 'आलोचना के प्रतिमानÓ, 'राष्ïट्र कवि माखनलाल चतुर्वेदी का कला-चिन्ïतनÓ, 'हिन्ïदी-कविता के पिछले पचास वर्षÓ, 'विष्ïणुकान्ïत शास्ïत्री की आलोचना-यात्राÓ, 'आलोचना के विरोधी प्रतिमानों के बीच सामञ्ïजस्ïय की संभावनाÓ, 'लोक के प्रतीक और उनका परिदृश्ïयÓ, 'हिन्ïदी रंगमंच के विकास में लोक-नाटï्य-शैली की भूमिकाÓ आदि विविध प्रकार के निबन्ध संगृहीत हैं। सभी निबन्ध सार गॢभत और सुचिंतित हैं। आलोचनात्ïमक निबन्धों के संग्रह की दो पद्धतियाँ हैं। एक में एक ही विषय पर अनेक लोग लिखते हैं और उन्ïहें संगृहीत किया जाता है, दूसरे में अनेक विषयों पर एक ही व्ïयक्ति लिखता है। पहली पद्धति में विषय विशेष के विविध रूप और आयाम सामने आते हैं, दूसरी पद्धति में लेखक-विशेष के मानसिक क्षितिज के विस्ïतार का पता चलता है। कहना न होगा कि प्रस्ïतुत संग्रह में दूसरी पद्धति अपनाई गई है। इसे इसी दृष्ïिट से देखना उचित होगा। पुस्ïतक सभी प्रकार के पाठकों के लिए उपयोगी सिद्ध होगी।