Tum Shiv Nahi Ho / तुम शिव नहीं हो
Author
: Dr. Abha Gupta Thakur
Language
: Hindi
Book Type
: General Book
Publication Year
: 2007
ISBN
: 9788171245857
Binding Type
: Paper Back
Bibliography
: x + 58 Pages, 22.5 X 14.5 Cm.

MRP ₹ 50

Discount 20%

Offer Price ₹ 40

आभा गुप्ता ठाकुर का प्रथम काव्य-संग्रह 'तुम शिव नहीं हो!Ó युगों से स्त्री के जीवन को घेरनेवाली समस्याओं एवं सवालों की अत्यन्त सार्थक और प्रभावशाली अभिव्यक्ति है। कवयित्री का सहृदय मन नारी की स्थिति पर आँसू नहीं बहाता क्योंकि आँसू बहाकर किसी व्यवस्था को नहीं बदला जा सकता है। इसलिए वे मानव जीवन विशेषकर स्त्री-पुरुष सम्बन्ध की वास्तविकता का बड़े साहस के साथ गैर रोमानी ढंग से खुलासा करती हैं। अपने में सिमटते संवेदनहीन होते समाज की उदासीनता कवयित्री को व्यथित करती है और अपनी कविता के माध्यम से वे ऊबे हुए सुखी लोगों को झकझोरने का प्रयास करती हैं। अपनी कविता के माध्यम से मानव जीवन के जिस यथार्थ का वे उद्घाटन करती हैं, उसके लिए भाषा, बि?ब और प्रतीकों का चयन वे सामान्य जीवन से करती हैं। घर-आँगन खेत-खलिहान नदी, रेत और राग-विराग के ताने-बाने से बुना गया जीवन का रंग पाठक को सहज ही बाँध लेता है। इस काव्य संग्रह में तराशने के श्रम की थकान नहीं है, बल्कि नदी के प्रवाह जैसी सहजता है जिसमें कवयित्री के व्यक्तित्व की रेखाएँ साकार हो उठती हैं।