Jansampark : Siddhanta Aur Vyavahar / जनसम्पर्क : सिद्धान्त और व्यवहार
Author
: Arjun Tiwari
  Mr. Vimalesh Tiwari
Language
: Hindi
Book Type
: Reference Book
Publication Year
: 2016, 2nd Edition
ISBN
: 9789351461517
Binding Type
: Hard Bound
Bibliography
: iv + 336 Pages, Biblio, Size : Demy I.e. 22.5 X 14.5 Cm.

MRP ₹ 500

Discount 20%

Offer Price ₹ 400

जनस?पर्क छवि निर्माण की इञ्जीनियङ्क्षरग है तथा जनमत को अपने पक्ष में करने की एक मनोहारी कला है। शासन, उद्योग, वित्त, शिक्षा, स्वास्थ्य, चिकित्सा आदि सभी क्षेत्रों में कार्यरत संस्थान अपनी पारदॢशता तथा प्रामाणिकता प्रस्तुत करने के लिए जनस?पर्क जैसे सशक्त एवं प्रभावकारी माध्यम अपनाते हैं। जनसंचार एवं पत्रकारिता की सर्वाधिक महत्त्वपूर्ण विधा जनस?पर्क ही है जिसके अध्ययन-अध्यापन हेतु ग्रंथ अपरिहार्य हो चुके हैं। जनसंचार, जनस?पर्क, जनमत, प्रचार तथा विज्ञापन की विविध अवधारणा, उनके तौर-तरीके, संस्थान प्रबंधन, ईवेंट प्रबंधन, आपदा प्रबंधन, गृह पत्रिका प्रकाशन के विभिन्न पहलुओं पर सोदाहरण तथ्यों को इस पुस्तक में प्रस्तुुत किया गया है। शासकीय, अशासकीय घरानों पब्लिक और प्राइवेट सेक्टर, औद्योगिक और निजी घरानों तथा कार्पोरेट जगत में कार्यरत जनस?पर्क अधिकारी अपने दायित्वों का निर्वहन सफलतापूर्वक कैसे करें—इसकी विवेचना इस ग्रंथ में है। जनसंचार तथा पत्रकारिता पर अनेक पुरस्कृत ग्रंथों के लेखक डॉ० अर्जुन तिवारी ने स्वस्थ जनस?पर्क कला पर प्रकाश डाला है तथा श्री विमलेश तिवारी ने आधुनिक कार्पोरेट जगत में जनस?पर्क की विभिन्न प्रक्रियाओं को प्रस्तुत किया है। लेखक द्वय की दूरदॢशता तथा लेखन-क्षमता के कारण प्रस्तुत ग्रन्थ एक उपलब्धि है जिससे संस्थान-स्वामी, अधिकारी, उपभोक्ता, आम जनता तथा जनस?पर्क अधिकारी अवश्यमेव लाभान्वित होंगे।