Hindi Ki Veer Kavya Dhara (Pratham Khand : Udgam) (V.S. 1000 to 1400) / हिन्दी की वीर काव्यधारा (प्रथम खण्ड : उद्गम) (सं. 1000 से 1400 वि. तक)
Author
: Bate Krishna
Language
: Hindi
Book Type
: Reference Book
Category
: Hindi Literary Criticism / History / Essays
Publication Year
: 1982
ISBN
: 9VPHKVKDH
Binding Type
: Hard Bound
Bibliography
: xvi + 154 Pages, Index, Size : Demy i.e. 22 x 14 Cm.

MRP ₹ 40

Discount 15%

Offer Price ₹ 34

आदिकाल से हिन्दी वीर-काव्यों पर निरंतर बढते हुए, अनेकानेक भ्रांतियों के वातचक्रों का निवारण कर वस्तुस्थिति का सम्यक् चित्रण इस कृति की विशिष्टता है। डॉ० गौरीशंकर हीराचंद ओझा, पं० चंद्रधर शर्मा गुलेरी, आचार्य रामचन्द्र शुक्ल, आचार्य विश्वनाथ प्रसाद मिश्र प्रभृति द्वारा स्थापित ऐतिहासिक गवेषणात्मक समीक्षा की परंपरा का विकास इस रचना में है। ग्रंथों की रचना शैली, वर्णन प्रणाली, चरित्र-चित्रण विषय-प्रतिपादन, इतर सूत्र अनुसंधान आदि के आधार पर अज्ञातकालिक कृतियों के रचनाकाल स्थिर करने के सिद्धान्त सर्व प्रथम इस ग्रंथ में प्रतिपादित है। इस ग्रंथ में समसामयिक राजनीतिक, आॢथक, सामाजिक आदि विभिन्न परिस्थितियों का वास्तविक स्वरुप समसामयिक विविध मूल ग्रन्थों से अन्वेषण कर प्रस्तुत किया गया है।