Chandrakanta Santati (2 Vols.) [PB] / चन्द्रकान्ता सन्तति (दो भागों में) [अजिल्द]
Author
: Devakinandan Khatri
Language
: Hindi
Book Type
: General Book
Category
: Hindi Novels / Fiction / Stories
Publication Year
:
ISBN
: 8OTCSP
Binding Type
: Paper Back
Bibliography
: Vol.01-II + 650 Pages, Vol.02-II + 666 Pages, Size

MRP ₹ 450

Discount 10%

Offer Price ₹ 405

OUT OF STOCK

यह उपन्यास है जिसे पढऩे के लिये लाखों लोगों ने हिन्दी सीखी। अद्भुत प्रेम कथा है जैसी आज तक दूसरी नहीं लिखी गई। यह मशहूर है कि यह उपन्यास अगर एक बार आप पढऩा शुरू कर दें तो बिना पूरा पढ़े हाथोंं से रख ही नहीं सकते। बाबू देवकीनन्दन खत्री के अनुसार उपन्यास वह है जो बेटी पढ़कर अपने पिता को सुना सकें। राजकुमारोंं की बहादुरी, ऐयारों की चालाकी, तिलिस्म के रहस्यमयी एवं वैज्ञानिक वर्णन के साथ-साथ आदर्श हिन्दू परिवार के आपुस के संस्कारशील व्यवहारों का अद्भुत वर्णन। चन्द्रकान्ता सन्तति हमें सिखाती है कि स्वस्थ मनोरंजन क्या है। यह पुस्तक हमें दुनियादारी की एक अद्भुत शिक्षा देती है।