Swatantryottara Hindi Kahaniyan [PB] / स्वातन्त्र्योत्तर हिन्दी कहानियाँ (पेपर बैक)
Author
: Hindi Department_BHU
Language
: Hindi
Book Type
: Text Book
Category
: Hindi Novels / Fiction / Stories
Publication Year
: 2012
ISBN
: 9788171248933
Binding Type
: Paper Back
Bibliography
: xxxvi + 252Pages; Size : Demy i.e. 21.5 x 13.5 Cm.

MRP ₹ 100

Discount 15%

Offer Price ₹ 85

हिन्दी कहानियों का यह संग्रह स्वतन्त्रता के पश्चात् की कहानियों की पर?परा सुलभ कराता है। गुलेरी, प्रसाद, प्रेमचंद, यशपाल, जैनेन्द्र, अज्ञेय आदि के बाद हिन्दी कहानी के परिवर्तनों के चिह्नï इन कहानियों में उपस्थित हैं। पहली कहानी 'प्रभाÓ (राहुल सांकृत्यायन) ठीक स्वतन्त्रता के पूर्व के कथा-परिदृश्य की झलक देती है। शेष कहानियों में हिन्दी कहानी के प्रमुख आन्दोलन 'नयी कहानीÓ की छाप है या 'अकहानीÓ की प्रवृत्तियाँ इंगित होती हैं या फिर आन्दोलनों के उतार के पश्चात् कहानी का मन-मिजाज दृष्टिïगोचर होता है। कालक्रम से देखा जाये तो सन् 1942 से 2005 के बीच से ये कहानियाँ आती हैं। इस अवधि के बीच श्रेष्ठï कहानियाँ अन्य भी हो सकती हैं। पर एक संग्रह में कहानियों की एक सीमा भी होती है। मूलत: यह संग्रह 'स्वातन्त्र्योत्तर हिन्दी कहानियाँ', काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के स्नातकोत्तर (हिन्दी) के चतुर्थ सेमेस्टर में 'विशेष अध्ययन : स्वातन्त्र्योत्तर हिन्दी कथा साहित्यÓ पाठ्यक्रम में निर्धारित कहानियों के आधार पर तैयार हुआ है। पर यहाँ इस दौर के प्रतिनिधि कहानीकारों की कहानियाँ क्रमबद्ध हैं। अत: यह संकलन जितना विद्याॢथयों के लिए उपयोगी है उतना ही कहानी के मुरीद पाठकों के लिए भी।