Agam-Tattav-Vilas (Vol. 4) / आगम-तत्त्व-विलास: (श्री रघुनाथतर्कवागीशप्रणीत:) (भाग-4)
Author
: Pradeep Kumar Rai
Language
: Hindi
Book Type
: Reference Book
Publication Year
: 2012
ISBN
: 8OTATVH
Binding Type
: Hard Bound
Bibliography
: x + 542 Pages; Size : Demy i.e. 23 x 14 Cm.

MRP ₹ 650

Discount 15%

Offer Price ₹ 553

26. सर्वेश्वरदयाल सक्सेना [1927-83 ई०] : सुहागिन का गीत, सौन्दर्य-बोध, सूखे पीले पतत्तों ने कहा, विवशता / 27. श्रीकान्त वर्मा [1931-80 ई०] : आस्था की प्रतिध्वनियाँ, भद्रवंश का प्रेत / 28. केदारनाथ ङ्क्षसह [1932 ई०] : सूई और तागे के बीच में, मुक्ति, रोटी, बनारस, 29. धूमिल [1936-75 ई०] : गाँव, कविता, मोचीराम, शहर में सूयास्त, प्रौढ़ शिक्षा, कवि 1970, भाषा की रात / 30. अशोक वाजपेयी [1941 ई०]: आगर इतने से, वे, पूर्वजों की अस्थियों मेंं, विदा का कोई समय नहीं है, तोतों से बची पृथ्वी / 31. ब""ान ङ्क्षसह [1942 ई०] : अग्निबाण, अंधोंं की बस्ती में, बरखा, माँ, काका / 32. राजेश जोशी [1946 ई०] : रैली में स्त्रियों, आधा वृत्त, चप्पलें, दृश्य और बिम्ब / परिशिष्टï, कवि तथा काव्य परिचय।