Hindi Sahitya Ka Abhinav Itihas / हिन्दी साहित्य का अभिनव इतिहास
Author
: Vashistha Anoop
Language
: Hindi
Book Type
: Reference Book
Publication Year
: 2012
ISBN
: 9788171248650
Binding Type
: Hard Bound
Bibliography
: xii + 332Pages; Size : Demy i.e. 22 x 14 Cm.

MRP ₹ 400

Discount 20%

Offer Price ₹ 320

इस गतिशील सृष्ïिट में कुछ भी अपरिवर्तनीय नहीं है। हर चीज़ तेजी के साथ बदल रही है। जैसे-जैसे समय बढ़ रहा है, नये-नये अनुसन्ïधानों, तथ्ïयों और साक्ष्ïयों के प्रकाश में साहित्ïय की भी नयी व्ïया?ïया हो रही है। पुरानी मान्ïयताएँ कहीं बदल और विस्थापित हो रही हैं तो कहीं नये प्रमाणों से और पुष्ïट भी हो रही हैं। आज के साहित्ïय और एक दशक पहले के साहित्ïय में बहुत $फर्क आ चुका है। साहित्ïय की प्रत्ïयेक विधा में लगातार नयी रचनाएँ आ रही हैं, यहाँ तक कि नयी-नयी विधाएँ भी स्ïवीकृत और स्थापित होती जा रही हैं। पहले जितना एक शताब्ïदी में लिखा जाता था, अब एक दशक में लिखा जा रहा है। अत: नयी साहित्ïियक उपलब्धियों को साहित्ïय के इतिहास में अंकित करने की आवश्ïयकता हमेशा बनी रहती है। यह पुस्ïतक आज से लगभग एक दशक पहले प्रकाशित हुई थी और इसके तीन संस्ïकरण छप चुके हैं। इस बीच साहित्ïय जगत् में बहुत कुछ बन-बदल गया है। इसलिए इस पुस्ïतक के संशोधन, परिवर्धन और कुछ पुनर्लेखन की आवश्ïयकता अनुभव हुई। इस पुस्ïतक में हर विधा की अद्यतन उपलब्धियों को जोड़ दिया गया है। गीत, $गज़ल और जनवादी कविता को तो पहले ही शामिल किया जा चुका था, इस संस्ïकरण में बिल्ïकुल नये विमर्शों-उत्तर आधुनिकता और साहित्ïय, दलित-विमर्श और साहित्ïय, स्ïत्री-विमर्श और साहित्ïय तथा आदिवासी विमर्श और साहित्ïय को भी पहली बार (और साहित्ïय के इतिहास में भी पहली बार) व्ïयवस्थित ढंग से मूल्ïयांकित और प्रस्ïतुत किया गया है। इस प्रकार यह सही अर्थों में हिन्ïदी साहित्ïय का अभिनव इतिहास है।