Samadhan / समाधान
Author
: Prem Narayan Somani
Language
: Hindi
Book Type
: General Book
Publication Year
: 2016, 1st Edition
ISBN
: 9788189498863
Binding Type
: Hard Bound
Bibliography
: xii + 96 Pages; Size : Demy i.e. 22.5 x 14.5 Cm.

MRP ₹ 200

Discount 20%

Offer Price ₹ 160

जीवन है तो समस्याएँ हैं। समस्याएँ हैं तो उनके समाधान भी हैं। अनादि काल से व्यक्ति, समाज, राष्ट्र की समस्याएँ सदैव एक सी ही रही हैं। जैसे विज्ञान की पहुँच ने प्रकृति के रहस्यों को खोज कर समस्याओं का समाधान निकाला वैसे नयी समस्याएँ बढ़ती गयीं। संचार और त्वरित गति से यातायात बढ़ा, दुनिया एक छोटा गाँव बन गया जिसमें भिन्न-भिन्न प्रकृति के लोग रहते हैं। अन्तर्राष्ट्रीय क्षेत्र छोटा होता गया और अपने विचारों की लड़ाई बढ़ती गयी जो विश्व युद्धों के विकराल रूप में दिखायी दी। हाइड्रोजन बम, एटम बम एवं मिसाइलों की पहुँच से हर देश पर खतरा है। आज भी कट्टïरवादी सुन्नी और शिया आपस में लड़ रहे हैं और आतंकवाद का छद्म युद्ध सारी दुनिया पर लाद रहे हैं। यह विचारों की लड़ाई शुद्ध विचारों से, सहिष्णुता से, प्रेम और सद्भाव से ही सुलझ सकती है। इसके लिए हर व्यक्ति को अपने द्वेषपूर्ण या रागरंजित विचार छोडऩे पड़ेंगे और तर्कसंगत, युक्तिसंगत, समतापरक एवं सर्वहितकारी विचारों को अपनाना पड़ेगा तभी यह कट्टरवादिता की धुन्ध छँटेगी। प्रस्तुत लेखों में इस समस्या को लगभग 2600 वर्ष पूर्व भगवान बुद्ध द्वारा कैसे सुलझाया गया है, इसका वर्णन है। आज के राजनीतिज्ञ, राजपुरुष एवं राज्य के कर्मचारी इन्हें आत्मसात् करें और सच्चे मन से जनता-जनार्दन की सेवा के भाव से कार्य करें तो स्थिति सुधर ही नहीं सकती वरन् राष्ट्र विकास, समृद्धि और शान्ति की ओर तेजी से अग्रसर हो सकता है। बुद्ध के अनुयायी प्रियदर्शी सम्राट अशोक के शिलालेख मानव धर्मों को दर्शाते हैं और बताते हैं कि समस्याएँ कैसे हल हो सकती हैं?