Mudrika Rahasya (Satire) / मुद्रिका रहस्य (व्यंग्य रचनाएँ)
Author
: Shri Sharad Joshi
Language
: Hindi
Book Type
: General Book
Publication Year
: 1992
ISBN
: 9VPMRH
Binding Type
: Hard Bound
Bibliography
: viii + 156 Pages, Size : Demy i.e. 22.5 x 14.5 Cm.

MRP ₹ 60

Discount 20%

Offer Price ₹ 48

हास्य और व्यंग का शास्त्रीय विश्लेषण करने वाले व्यंग को सामाजिक जीवन की तीखी आलोचना से जोड़ते हैंं जहाँ विरुपता, विडम्बना, अतिशयोक्ति फूहड़पन और जुगुप्सा आदि कुछ भी वर्जित नहीं है। शरद जोशी हास्य और व्यंग के इस चिरन्तन और शास्त्रीय अन्तर को अपने सहज सौम्य स्वभाव से मिटाते नजर आते हैं। वे समाज के विविध पक्षों की तीखी आलोचना करते हुए भी और अपने तीखेपन को छिपाये बिना भी कटुता और अमर्यादित भत्र्सना से उसे दूर रखते हैं। समाज में घुसे हुए असंख्य परजीवियों पर उनकी कलम प्रखरता से चलती है। उनका परिहासपूर्ण रुख व्यंग को कुण्ठित नहीं करता, सहजतापूïर्वक एक भयानक सामाजिक परिस्थिति से हमारा सीधा साक्षात्कार कराता है। इस संग्रह की रचनाएँ शरद जोशी की पिछले पचीस-तीस वर्षों की रचनाओं से चुनी गयी हैं। उनमें अधिकांशत: वाचिक परम्परा की रचनाएँ है। ऐसा लग रहा है कि लेखक लिख नहीं रहा है, वह एक अन्तरंग समुदाय से बात कर रहा है। उनका लक्ष्य एक वृहत्तर श्रोत-समुदाय था। इस प्रकार जहाँ शरद जोशी ने एक ओर हास्य व्यंग की रुढ़ सीमाओं को तोड़कर उन्हें नजदीक लाने का असम्भव कार्य किया है, वहीं उन्होंने साहित्य की लिखित और वाचित परम्परा को उसी तरह एकात्म बनाने की उपलब्धि अर्जित की जो-शताब्दियों में-कबीर, तुलसी, सूर आदि के साथ जुड़ी है। शरद जोशी का यह संग्रह उनकी कीर्ति को और भी परिपुष्ट करेगा, उनके यश:काय की उपस्थिति को हमारे बीच और भी जीवन्त बनायेगा। -श्रीलाल शुक्ल