Bharatiya Police / भारतीय पुलिस (ई. पू. ३००० से सन ्१९८४ तक)
Author
: Paripurnanand Verma
Language
: Hindi
Book Type
: Reference Book
Category
: Sociology, Religion & Philosophy
Publication Year
: 2000
ISBN
: 9VPBPH
Binding Type
: Hard Bound
Bibliography
: xii + 244 Pages, Size : Demy i.e. 22 x 14 Cm.

MRP ₹ 80

Discount 10%

Offer Price ₹ 72

'पुलिसÓ शब्द की उत्पत्ति तथा पुलिस संगठन का प्रारम्भ सर्वप्रथम भारत में हुआ। ब्रिटिश काल के पूर्व तक यह संगठन किस प्रकार कार्य करता रहा, ब्रिटिश शासन में इसमें क्रमागत परिवर्तन तथा परिवर्धन किस प्रकार होते गये है तथा स्वराज्य के बाद भारतीय पुलिस का संगठन किस प्रकार विकसित हुआ और आज उसका क्या रुप है, इसका ब्योरेवार विश्लेषण तथा वर्णन इस पुस्तक की विशेषता है। अभी तक प्राप्त अपराध के आंकड़े, पुलिस दल की संख्या, उस पर व्यय आदि की जितनी सामग्री इस ग्रंथ में दी गयी है, भारतीय तथा विदेशी भाषा में भी ऐसा ग्रंथ दुलर्भ है। ग्रंथ में १९७८-७९ तक राष्ट्रीय पुलिस कमीशन की रिपोर्ट, अनेक देशों के पुलिस संगठन का वर्णन, भारतीय पुलिस का प्रशिक्षण, पुलिस तथा समाज का सम्बन्ध, पुलिस के लिये आवश्यक संकल्प के साथ ही पुलिस सम्बन्धी इतनी रोचक बातें हैं कि शुरू से अन्त तक पुस्तक पढऩे को विवश करती है। ग्रंथ पूर्णत: तटस्थ, अराजनैतिक तथा ऐतिहासिक दृष्टि से लिखा गया है। प्रत्येक पुलिस कर्मी के लिए पठनीय तथा संग्रहणीय।