Bharat Durdasha / भारत दुर्दशा
Author
: Ramkali Saraf
  Bhartendu Harishchandra
Language
: Hindi
Book Type
: Text Book
Category
: Literature for Children, Adult & Neo-literate
Publication Year
: 2012
ISBN
: 9788171248506
Binding Type
: Paper Back
Bibliography
: xxviii + 44 Pages, Size : Crown i.e. 18 x 12 Cm.

MRP ₹ 20

Discount 15%

Offer Price ₹ 17

'भारत-दुर्दशाÓ में एक ओर ब्रिटिश राज की निर्ममता, शोषण का चित्र है तो दूसरी ओर भारतवासियों की काहिली, आलस्य और अशिक्षा भी कारण रूप में विद्यमान है। यही कारण है इन समस्त अन्तॢवरोधों स्थितियों से उबरने के लिए जरूरी था—'सब लोग मिलकर एक चित्त होंÓ, विद्या की उन्नति करो, कला सीखो, जिससे वास्तविक कुछ उन्नति हो भारतेन्दु की इस प्रकार की आकांक्षा थी कि यदि भारतीय जनता अपनी दुरवस्था से मुक्त होना चाहती है तो पहले उन्हें अपनी दुर्बलताओं से मुक्त होना होगा। आत्मबोध को जागृत करना होगा।