Aadhunik Hindi Kavita Ka Vaicharik Paksh / आधुनिक हिन्दी कविता का वैचारिक पक्ष
Author
: Dr. Ratan Kumar Pandey
Language
: Hindi
Book Type
: Reference Book
Publication Year
: 2000
ISBN
: 8171242421
Binding Type
: Hard Bound
Bibliography
: viii + 468 Pages, Biblio., Size : Demy i.e. 22.5 x 14.5 Cm.

MRP ₹ 400

Discount 20%

Offer Price ₹ 320

भारतेन्दु-युग की कविता से आधुनिक-कविता का जन्म माना गया है। द्विवेदी-युग में वह शैशवावस्था पार करती है। छायावाद में युवा होकर प्रगतिवाद, प्रयोगवाद, नयी-कविता, साठोत्तरी-कविता एवं समकालीन कविता आदि चरणों से गुजरती आगे बढ़ती है। बीच-बीच में कुछ अन्य छोटे-छोटे प्रवाह रहस्यवाद, हालावाद, राष्टï्रीय-सांस्कृतिक-चेतना की धारा, प्रपद्यवाद आदि इनमें से निर्गत एवं समाहित होते रहे हैं। देश पर पाश्चात्य विचारों का गहरा प्रभाव आधुनिक-युग में रहा है। फ्रांस और रूस की क्रांति, अमेरिका, आयरलैंड आदि देशों की लोकतंत्रीय-चेतना, माक्र्सवाद, मनोविश्लेषणवाद, अस्तित्ववाद, अतियथार्थवाद, प्रकृतिवाद आदि विचारों ने हमारे देश को प्रभावित किया। समय-समय पर हिन्दी कविता पर इनका प्रभाव पड़ा। भारतीय-ङ्क्षचतन-प्रणाली भी विचार शून्य न थी। इसकी दार्शनिक ङ्क्षचतन की परम्परा और समसामयिक सुधारवादी आन्दोलनों ने भी रचनाकारों को प्रभावित किया। उनके विचारों से कविता अछूती न रह सकी।