Hindi Bhasha Aur Lipi ka Aitihasik Vikas / हिन्दी-भाषा और लिपि का ऐतिहासिक विकास
Author
: Satyanarayan Tripathi
Language
: Hindi
Book Type
: Text Book
Category
: Hindi Grammar, Language & Linguistics
Publication Year
: 2013
ISBN
: 9788171249664
Binding Type
: Paper Back
Bibliography
: xvi + 268 pages, Append., Size : Demy i.e. 21 x 13 Cm.

MRP ₹ 120

Discount 15%

Offer Price ₹ 102

हिन्ïदी भाषा के ऐतिहासिक विकास को संतुलित रूप में प्रस्ïतुत करना इस कृति का लक्ष्ïय है। हिन्ïदी का विकास वस्ïतुत: ङ्क्षडगल, ब्रजी, अवधी और खड़ी-बोली हिन्ïदी के साहित्ïियक रूपों का इतिहास है। ङ्क्षडगल-काव्ïयों से लेकर आधुनिक हिन्ïदी नयी कविता तक के भाषारूपों के आधार पर इस विकास की रूप-रेखा प्रथम बार विस्ïतृत रूप में इस कृति में स्ïपष्ïट की गयी है। इस विकासात्ïमक अध्ïययन में भाषाओं के साहित्ïियक रूपों के साथ उनके कथ्ïयरूपों का भी विवेचन किया गया है और विकास के उत्थानों के लिए कालपरक नामों के अतिरिक्त भाषा परक नाम भी सुझाए गए हैं। आधुनिक भारतीय आर्यभाषाओं के वर्गीकरण पर विचार करते समय लेखक ने डॉ० ग्रियर्सन और डॉ० सुनीतिकुमार चटर्जी के वर्गीकरणों की सम्यकï् परीक्षा करके उनकी सीमाओं का निर्देश किया है। हिन्ïदी ध्ïवनियों का ऐतिहासिक विवेचन उनकी विकासात्ïमक प्रवृत्तियों के आधार पर किया गया है। इन प्रवृत्तियों का उदï्घाटन इस प्रयास की अपनी विशिष्ïटता है। व्ïयाकरणिक विकास के सन्ïदर्भ में किया गया हिन्ïदी प्रत्ïययों का वर्गीकरण भी इस कृति की नवीनता है।