Karunamurti Buddha / करुणामूर्ति बुद्ध
Author
: Bhanu Shankar Mehta
  Gunwant Shah
Language
: Hindi
Book Type
: General Book
Category
: Bio/Auto-Biographies - Spiritual Personalities
Publication Year
: 1987
ISBN
: 9VPKMBH
Binding Type
: Paper Back
Bibliography
: xii + 80 Pages, Append., Size : Crown i.e. 18.5 x 12 Cm.

MRP ₹ 25

Discount 15%

Offer Price ₹ 21

जैसी समष्टि की आकांक्षा वैसा अवतार। दुनिया को बुद्ध और युद्ध की बीच एक को चुनना होगा। जिसमें जानबूझ कर झूठे विधान न किये गये हों ऐसा तो जगत में एक भी धर्म नहीं है। हमारी मुश्किल यह है कि हम क्रान्ति के साथ लकड़हारे को जोड़ते हैं, माली को नहीं। जाति के कारण कोई चांडाल नहीं होता या कोई ब्राह्मïण नहीं होता, कर्म से चांडाल होता है और कर्म से ब्राह्मïण। कर्म अच्छा है या बुरा यह जानने की कसौटी करुणा है। आसपास की अशान्ति के बीच उसे एक टापू की रचना करनी है। गांधी जी ने गाय को करुणा का काव्य कहा।