Dhruvaswamini (Drama) / ध्रुवस्वामिनी (मूल, नाटक, तथा समीक्षा)
Author
: Jaishankar Prasad
  Jagdish Prasad Srivastava
Language
: Hindi
Book Type
: Text Book
Category
: Hindi Plays / Drama
Publication Year
: 2010
ISBN
: 9788171247318
Binding Type
: Paper Back
Bibliography
: xii + 88 Pages, Size : Crown i.e. 17.5 x 12 Cm.

MRP ₹ 20

Discount 15%

Offer Price ₹ 17

OUT OF STOCK

'ध्रुवस्वामिनीÓ प्रसाद की अन्तिम और अन्यतम रचना है। यह प्रसाद का एकमात्र नाटक है, जिसमें नाट्य-वस्तु और नाट्य-शिल्प का सम्यक् विनियोजन एवं सामंजस्य लक्षित होता है। प्रगतिशील जीवनदृष्टिï के आधुनिक कथ्य को नाटककार ने कथ्य के अनुरूप शैली में प्रस्तुत किया है। संघर्ष और द्वन्द्व की इतनी सघन नाटकीयता प्रसाद में अन्यत्र नहीं मिलेगी। समस्या-प्रधान होने के साथ-साथ यह वैचारिक नाटक है। समीक्षक डॉ० जगदीशप्रसाद श्रीवास्तव ने नाटककार प्रसाद की नाट्यसृष्टिï का अध्ययन करते हुए 'ध्रुवस्वामिनीÓ की विस्तृत समीक्षा प्रस्तुत की है। आशा है प्रसाद-साहित्य के अध्येताओं के लिए यह उपयोगी सिद्ध होगी। अनुक्रम : सूचना, ध्रुवस्वामिनी, नाटककार प्रसाद और ध्रुवस्वामिनी, प्रसाद और उनकी नाट्य-सृष्टिï, ध्रुवस्वामिनी : एक सर्वेक्षण, इतिहास और कल्पना, कथावस्तु का विन्यास, अर्थप्रकृतियाँ, कार्यावस्थाएँ एवं नाट्य-सन्धियाँ, नाटक की समस्या, आन्तरिक एवं बाह्यï संघर्ष, रसात्मकता, पात्र और चरित्र-चित्रण, संवाद-योजना, समन्वयपूर्ण नाट्यदृष्टिï।